पेंटागन ने कहा है कि चीन की चाल हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति स्थापित करने के अनुकूल नहीं है। इसलिए वह जल्द ही भारत से बातचीत करेगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *